प्राच्य संस्कृत शिक्षकों का प्रशिक्षण

स्कूल शिक्षा मंत्री और अध्यक्ष छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्यामंडलम डॉ. प्रेमसाय सिंह के निर्देश पर प्राच्य संस्कृत शिक्षकों का प्रशिक्षण दूधाधारी मठ के सत्संग भवन में 24 सितम्बर को शुरू हुआ। यह प्रशिक्षण 28 सितम्बर तक आयोजित किया गया है। प्रशिक्षण शिविर का उद्घाटन प्राचार्य दूधाधारी श्री वैष्णव शासकीय स्नातकोत्तर संस्कृत महाविद्यालय रायपुर की प्राचार्य डॉ. श्रीमती राधा पाण्डेय के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ।
    प्राच्य संस्कृत विषयों पर प्रशिक्षण में संस्कृत शिक्षकों को डॉ. राघवेन्द्र शर्मा सहायक प्राध्यापक संस्कृत कॉलेज रायपुर और शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय रायपुर की सहायक प्राध्यापक डॉ. अराधना कंडे द्वारा साहित्यिक धर्मशास्त्र और पुराणेतिहास का प्रशिक्षण दिया गया। आज संस्कृत कॉलेज रायपुर के डॉ. बहुरन सिंह पटेल द्वारा व्याकरण और सेवानिवृत्त व्याख्ता डाईट रायपुर ललित शर्मा द्वारा योग विषय का प्रशिक्षण दिया गया।
    प्रशिक्षण के संयोजक और छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्यामंडलम के सचिव डॉ. सुरेश कुमार शर्मा ने बताया कि 26, 27 और 28 सितम्बर को क्रमशः संस्कृत कॉलेज रायपुर के प्राध्यापक डॉ. रामकिशोर मिश्र द्वारा वेद एवं पौरो हित्यम, गुरूकुल आश्रम कोसरंगी के आचार्य कोमल आर्य ज्योति द्वारा दर्शन, प्रधानाचार्य दूधाधारी वैष्णव संस्कृत उच्चतर माध्यमिक शाला मठपारा, कृष्ण वल्लभ शर्मा द्वारा प्रवेशिका, प्राचार्य शासकीय दानवीर तुलाराम स्नातक महाविद्यालय उतई जिला दुर्ग डॉ. आचार्य महेश चन्द्रशर्मा द्वारा प्रवचनम और ओमखण्ड ज्योतिष केन्द्र रायपुर के डॉ. संतोष तिवारी द्वारा ज्योतिष पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। संस्कृत विद्यामंडलम के सहायक संचालक लक्ष्मण प्रसाद साहू और व्याख्याता सुश्री आशारानी चतुर्वेदी की सक्रिय सहयोग दे रहे हैं।    

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here