दिव्यांगों को मिल्क-बूथ संचालन से स्वरोजगार दिलाने की योजना

समाज कल्याण विभाग मंत्री अनिला भेंड़िया की अध्यक्षता में मंत्रालय में छत्तीसगढ़ निःशक्तजन वित्त एवं विकास निगम के संचालक मण्डल एवं वार्षिक आमसभा की बैठक हुई। भेंड़िया के निर्देशन में दुग्ध संघ के सहयोग से दिव्यांगों को मिल्क-बूथ संचालन से स्वरोजगार दिलाने की कार्ययोजना तैयार की जा रही है। इससे दिव्यांगजन आर्थिक मजबूती के साथ आत्मनिर्भर बन सकेंगे।    
    भेंड़िया ने कहा कि दिव्यांगों के कौशल विकास और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए व्यवहारिक कार्ययोजनाएं बनाई जाएं। जमीनी स्तर पर सुविधाओं और समस्याओं का आंकलन करें। उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं से कोई जरूरतमंद वंचित न रहे। अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2018-19 में दिव्यांगों को स्वरोजगार के लिए 7 करोड़ 52 लाख रूपये का ऋण प्रदान किया गया है। नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में दिव्यांगों द्वारा बनाई गई पेंटिंग की प्रदर्शनी लगाई गई थी। सभी चित्रों को सराहा गया और उनकी बिक्री हो गई है। अब यू.एस.ए. में दिव्यांगों की पेंटिंग की प्रदर्शनी लगाने के प्रयास किये जा रहे हैं जिससे उन्हें अंतर्राष्ट्रीय मंच उपलब्ध कराया जा सके। बैठक में निगम में कम्पनी सेक्रेटरी की नियुक्ति,निगम के वित्त प्रकरणों,़ऋण वसूली,निगम की आर्थिक मजबूती पर चर्चा सहित पिछले वित्तीय वर्षों के ऑडिट और वार्षिक प्रतिवेदनों का अनुमोदन किया गया। संचालक मंडल के सदस्यों की नियुक्ति के संबंध में चर्चा की गई। उल्लेखनीय है कि निगम दिव्यांग व्यक्तियों के लाभ हेतु आर्थिक विकास के क्रियाकलापों एवं स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए कार्य करता है। इस अवसर पर समाज कल्याण विभाग के सचिव श्री ए. कुलभूषण टोप्पो,निगम के महाप्रबंधक श्री राजेश तिवारी, वित्त, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here